26 जनबरी पर गीत 2020 – Republic Day Desh Bhakti Geet in Hindi

26 जनबरी पर गीत –  26 जनवरी 1950 को हमारे देश की संविधान की लागू हुआ था| भारत सरकार द्वारा इस दिन को राष्ट्रीय छुट्टी के तौर पर घोषित किया गया है| इस दिन सभी सरकारी व बेसरकारी ऑफिस और अन्य संस्थाओं में भी छुट्टी होती है| भारत के इतिहास में गणतंत्र दिवस के दिन काफी महत्व दिन है, ख़ास कर स्कूल व कॉलेज के बच्चों के लिए| इस दिन बच्चों द्वारा देश भक्ति के गीत व कविता पूरे माहौल की परिभाषा बदल देती है| स्कूल या अन्य अनुष्ठानो में इस दिन की तैयारी काफी दिन पहले से ही शुरू हो जाती है| इसलिए आज कि इस पोस्ट मे हम आपको 26 जनबरी पर गीत 2020, republic day geet download, 26 january geet 2020 2019, mp3, रिपब्लिक डे गीत lyrics in hindi गाते व प्रस्तुत कर रहे है | Gantantra diwas Geet इस प्रकार हैं |



26 जनबरी पर गीत


राष्ट्र-भक्ति ले हृदय मे हो खडा यदी देश सारा……

राष्ट्र-भक्ति ले हृदय मे हो खडा यदी देश सारा
सकटो पर मातं कर यह देश विजयी हो हमारा ॥
क्या कभि किसने सूना है सुर्य छीपता तिमीर भय से
क्या कभी सरिता-रुकी है बाध से बन पर्वत से
जो न रुक्ते मार्ग चलते चिर कर सब संकटों-को
वर्न करती कीर्ती उनको तोड़ कर सब असूर दल को
धयेय मंदीर के पतिक को कन्टकों का ही सहारा ॥
हम न रुक्ने चले है सुर्य के यदि पुतर है तो
हम न हट्नें को चले है सरित् की यदि प्रेरना को
चरण अगद ने रखा है आ उसे कोइ हटाएं
बहकात ज्वालामुखि यह आ उसे कोइ बुझाए
म्रत्यु की पी कर सुधा हम चल पडेंगे ले दु-धारा ॥
ज्ञान के वि-ज्ञान के भी क्षेत्र मे हम बढ़ पडेगे
निळ नभ के रूप के नव अरथ भी हम कर सकेंगे
भोगं के वातावरण मे त्याग का सदेश देंगे
तरास के घन बादलों-से सोख्य की वर्शा करेंगे
स्वपन यह साकार करने संघठित हो हिन्दु-सारा ॥


गणतंत्र दिवस स्वागत गीत


अगर आप राष्ट्रीय गीत, भोजपुरी देशभक्ति गीत desh bhakti.d.j देशभक्ति गीत mp3 देशभक्ति गीत भारत हमको जान से प्यारा है, देशभक्ति स्वागत गीत लिस्ट, वीडियो सांग, देश भक्ति गीत in written, देश भक्ति गीत pdf सांग्स desh bhakti song फिल्मी गीत, फ़िल्मी गीत, डाउनलोड, कविता मराठी में जानना चाहते है तो यहाँ से जान सकते है|आइये देखें कुछ best गणतंत्र दिवस गीत हिंदी में जिसे आप save व pdf download कर सकते हैं|

ए मेरे वतन के लोगों, तुम ख़ूब लगा लों नारा…….

ए मेरे वतन के लोगों, तुम ख़ूब लगा लों नारा
ये शुभं दिन हैं हम सब का, लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर, वीरों ने है प्राण गवाए
कुछ याद उन्हे भी कर लो, कुछ याद उन्हे भी कर लो
जो लोट के घर न आए, जो लोट के घर न आए…
ए मैरे वतन के लोगो, जऱा आख में भर लो पानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुर्बानी
ऐ मेरे वतन के लोंगो ज़रा आख में भर लो पानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुर्बानी
तुम भुल न जाओ उनको, इसलिए सूनो ये कहानी
जो शहिदों हुए हैं, उनकी, जरा याद करो क़ुर्बानी…
जब घायल हुआ हिमालया, ख़तरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी सास लड़े वो जब तक थी सांस लड़े वो, फिर अपनी लास बीछा दी
सगिन पे धर कर माथां, सो गए अमर बलिदानी
जो शाहिद्द हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुरबानी…
जंब देश में थी दीवालि, वो खेल रहे थे होळी
जब हम बेठे थे घरों में… जब हम बेठे थे घरों में, वो जहेल रहे थे गोली
थे धन्य जवानों वो अपने, थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, जरा याद करो क़ुर्बानी…
कोई शिख कोई जाठ मराटा, 2
कोई गुर्खा कोई मद्रासी, -2
सर्हद पर मर्नेवाला… सरहद पर मरनेवाला, वो वीर था हिंदुस्थानी
जो खुन गिरा पर्वत पर, वो खुन था भारतवासी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुरबानी…
थी खुन से लत – पत काया, फीर भी बन्दुक उठाके
10 – 10 को 1 ने मारा, फिर गिर गए होस गंवा के
जब आखिर समय आया तो…. जब अन्त-समय आया तो, कह गए के एब मरतें हैं
खुश रहना देस के प्यारों… ख़ुश रहना देश के पयारों
अब हम तो सफर करते हैं।.. -2
क्या लोग थे वो दिवाने, क्या लोग थे वो अभीमानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, जरा याद करो कुर्बानी
तुम भूल न जाओ उनको, इस्लिए कही ये कहानि
जो शहिद हुए हैं, उनकी जरा याद करो कुर्बानि
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना… जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना..


Republic Day Song in Hindi Text Font


26 जनबरी पर गीत साथ हि आप 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर नारे 2020

देश भक्ति पर कविताएँ 2020

पा सकते है |

कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों…….

कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
हां हां…
साँस थमती गई नब्ज़ जमती गई
फिर भी बढ़ते कदम को न रुकने दिया
कट गये सर हमारे तो कुछ ग़म नहीं
सर हिमालय का हमने न झुकने दिया
मरते मरते रहा बाँकापन साथियों
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
कर चले हम फ़िदा…
ज़िंदा रहने के मौसम बहुत हैं
मगर जान देने की रुत रोज़ आती नहीं
हुस्न और इश्क़ दोनों को रुसवा करे
वो जवानी जो खूँ में नहाती नहीं
आज धरती बनी है दुल्हन साथियों
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
कर चले हम फ़िदा…
राह क़ुर्बानियों की न वीरान हो
तुम सजाते ही रहना नये क़ाफ़िले
फ़तह का जश्न इस जश्न के बाद है
ज़िंदगी मौत से मिल रही है
गले बांधलो अपने सर से कफ़न साथियों,
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
कर चले हम फ़िदा…
खींच दो अपने खूँ से ज़मीं पर लकीर
इस तरफ़ आने पाये न रावण कोई
तोड़ दो हाथ अगर हाथ उठने लगे
छूने पाये न सीता का दामन कोई
राम भी तुम तुम्हीं लक्ष्मण साथियों,
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों


Republic Day Songs In Hindi Lyrics


मेरा रंग दे.. मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग……

मेरा रंग दे.. मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला रंग दे, रंग दे.. रंग दे बसंती चोला माये रंग दे निकले हैं वीर जिया ले यूँ अपना सीना ताने हंस-हंस के जान लुटाने आज़ाद सवेरा लाने मर के कैसे जीते हैं, इस दुनिया को बतलाने तेरे लाल चलें हैं माये, अब तेरी लाज बचाने मर के कैसे जीते हैं, इस दुनिया को बतलाने तेरे लाल चलें हैं माये, अब तेरी लाज बचाने आज़ादी का शोला बन के खून रगों में डोला मेरा रंग दे… मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला रंग दे, रंग दे.. रंग दे बसंती चोला माये रंग दे दिन आज तो बड़ा सुहाना मौसम भी बड़ा सुनहरा हम सर पे बाँध के आये बलिदानों का ये सेहरा बेताब हमारे दिल में इक मस्ती सी छायी है ऐ देश अलविदा तुझको कहने की घडी आई है महकेंगे तेरी फिज़ा में हम बन के हवा का झोंका किस्मत वालों को मिलता ऐसे मरने का मौका निकली है बरात सजा है इंक़लाब का डोला मेरा रंग दे… मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला माये रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला रंग दे, रंग दे.. रंग दे बसंती चोला माये रंग दे..|


राष्ट्रीय गीत संग्रह


मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू……

मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू
तेरा सब कुछ मैं, मेरा सब कुछ तू
हम्म्म आ आ….
[हर करम अपना करेंगे]x२
ऐ वतन तेरे लिए
[दिल दिया है जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए]x२
हर करम अपना करेंगे, तू मेरा कर्मा, तू मेरा धर्मा
तू मेरा अभिमान है[ऐ वतन महबूब मेरे तुझपे दिल क़ुर्बान है]x२
हम जिऐंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
[दिल दिया है जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए]x२
[हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई,
हमवतन, हमनाम हैं ]x२
जो करे इनको जुदा मज़हब नहीं इल्जाम है
हम जिऐंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए
आ आ…
तेरी गलियों में चलाकर नफ़रतों की गोलियां
लूटते हैं कुछ लुटेरे दुल्हनों की डोलियां
लुट रहे है आप वो अपने घरों को लूट कर
खेलते हैं बेखबर अपने लहू से होलियां
हम जिऐंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
[दिल दिया है जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए]x२


26 जनवरी गणतंत्र दिवस गीत


आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झाँकी हिंदुस्तान……

आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झाँकी हिंदुस्तान की इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती है बलिदान की वंदे मातरम … उत्तर में रखवाली करता पर्वतराज विराट है दक्षिण में चरणों को धोता सागर का सम्राट है जमुना जी के तट को देखो गंगा का ये घाट है बाट-बाट पे हाट-हाट में यहाँ निराला ठाठ है देखो ये तस्वीरें अपने गौरव की अभिमान की, इस मिट्टी से … ये है अपना राजपूताना नाज़ इसे तलवारों पे इसने सारा जीवन काटा बरछी तीर कटारों पे ये प्रताप का वतन पला है आज़ादी के नारों पे कूद पड़ी थी यहाँ हज़ारों पद्मिनियाँ अंगारों पे बोल रही है कण कण से कुरबानी राजस्थान की देखो मुल्क मराठों का ये यहाँ शिवाजी डोला था मुग़लों की ताकत को जिसने तलवारों पे तोला था हर पावत पे आग लगी थी हर पत्थर एक शोला था बोली हर-हर महादेव की बच्चा-बच्चा बोला था यहाँ शिवाजी ने रखी थी लाज हमारी शान की इस मिट्टी से … जलियाँ वाला बाग ये देखो यहाँ चली थी गोलियाँ ये मत पूछो किसने खेली यहाँ खून की होलियाँ एक तरफ़ बंदूकें दन दन एक तरफ़ थी टोलियाँ मरनेवाले बोल रहे थे इनक़लाब की बोलियाँ यहाँ लगा दी बहनों ने भी बाजी अपनी जान की इस मिट्टी से … ये देखो बंगाल यहाँ का हर चप्पा हरियाला है यहाँ का बच्चा-बच्चा अपने देश पे मरनेवाला है ढाला है इसको बिजली ने भूचालों ने पाला है मुट्ठी में तूफ़ान बंधा है और प्राण में ज्वाला है जन्मभूमि है यही हमारे वीर सुभाष महान की इस मिट्टी से …


स्वागत गीत फॉर स्टूडेंट


जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़ियां करती…..

जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़ियां करती है बसेरा वो भारत देश है मेरा जहाँ सत्य, अहिंसा और धर्म का पग-पग लगता डेरा वो भारत देश है मेरा ये धरती वो जहाँ ऋषि मुनि जपते प्रभु नाम की माला जहाँ हर बालक इक मोहन है और राधा इक-इक बाला जहाँ सूरज सबसे पहले आ कर डाले अपना फेरा वो भारत देश है मेरा… जहाँ गंगा, जमुना, कृष्ण और कावेरी बहती जाए जहाँ उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम को अमृत पिलवाये ये अमृत पिलवाये कहीं ये फल और फूल उगाये, केसर कहीं बिखेरा वो भारत देश है मेरा… अलबेलों की इस धरती के त्योहार भी हैं अलबेले कहीं दीवाली की जगमग है, होली के कहीं मेले जहाँ राग-रंग और हँसी-खुशी का चारों ओर है घेरा वो भारत देश है मेरा… जहाँ आसमान से बातें करते मंदिर और शिवाले किसी नगर मे किसी द्वार पर कोई न ताला डाले और प्रेम की बंसी जहाँ बजाता आये शाम सवेरा वो भारत देश है मेरा…


You Also Like : 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here