हिंदी निबंध

विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण 2019- World Population Day Speech in Hindi For Students

विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण- विश्व जनसंख्या दिवस का जश्न मनाने के समारोह में आपका स्वागत है, पूरे संसार में धीरे धीरे मानव जाती की जनसंख्या बढ़ती जा रही है, जिसके चलते धरती पर बहुत सी विकत समस्या का संचार हो रहा है, जैसा कि हम सभी जानते हैं हर साल हमारा गैर सरकारी संगठन जनसंख्या के आधार पर एक विषय का चयन करता है और इसके बारे में जागरूकता पैदा करने का प्रयास करता है। हर साल पूरे विश्व में 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है, इसी को देखते हुए आज हम आपको पेश कर रहे है, world population day 2019 , speech in hindi, विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण, speech on population day, speech on world population day, जिसको आप अपने कॉलेज, स्कूल, व किसी भी समारोह में मदद ले सकते है |



World Population Day Speech in Hindi For Students


मेरे प्रिये मित्रो और सभी सभी सहपाठियों को मेरा नमस्कार, आज हमने विश्व जनसँख्या दिवस पर स्पीच प्रस्तुत किया है,

हर साल हम समान उत्साह और नए विषय के साथ इस दिन का जश्न मनाते चले आ रहे हैं। 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल ने 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस का जश्न मनाने के उद्देश्य से जनसंख्या संबंधी मुद्दों के महत्व और अत्यावश्यकता को उजागर करने के उद्देश्य से सिफारिश की थी।

संयुक्त राष्ट्र की 2019 की रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में विश्व की आबादी 7.6 अरब है। 2030 तक विश्व की आबादी 8.6 मिलियन पहुँचने की उम्मीद है। प्रति वर्ष 83 मिलियन लोग जन्म ले रहे है। भारत और चीन की आबादी कमशः 125 और 132 करोड़ है जो विश्व जनसंख्या का 18% और 19% है। यदि विश्व की बढ़ती जनसंख्या को नही रोका गया तो सभी संसाधन खत्म हो जायेंगे और युद्ध के हालात बन जायेंगे।

आज भारत जनसंख्या विस्फोट की समस्या से जूझ रहा है। 2011 के अनुसार भारत की आबादी 125 करोड़ से अधिक हो गयी है। आज देश में रोजगार, स्वास्थ्य, भ्रष्टाचार, कुपोषण, घर, गरीबी जैसी अनेक समस्यायें पैदा हो रही है। आंकड़ों के अनुसार भारत में हर मिनट 25 बच्चे पैदा होते हैं।

ये आकड़े सिर्फ अस्पतालों के है क्यूंकि अनेक बच्चे घर पर ही जन्म लेते है। विशेषज्ञों का कहना है की यदि भारत ने अपनी आबादी पर कोई रोक नही लगाई तो यह 2030 तक चीन की 132 करोड़ की आबादी को पार करके विश्व में सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जायेगा।


विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण


नीचे हम आपको पेश कर रहे है, world population day 2017 speech in hindi, विश्व जनसंख्या दिवस पर लेख, speech on population day, speech on world population day, विश्व जनसंख्या दिवस पर लेख, विश्व जनसंख्या दिवस भाषण, विश्व जनसंख्या दिवस पर विशेष, world population day speech in hindi pdf, स्पीच ओं वर्ल्ड पापुलेशन डे, speech on world population day in english, Vishwa Jansankhya Diwas speech, world population day speech, जिसकी मदद से आप अपने कॉलेज, स्कूल व किसी भी समारोह में अच्छी तरह से स्पीच पेश कर सकते है |


इस दिन का हर देश में विशेष महत्व है क्योंकि आज दुनिया के हर विकासशील और विकसित दोनों तरह के देश जनसंख्या विस्फोट से चिंतित है | दुनिया की कुल जनसंख्या के आधे से भी ज्यादा आबादी तो एशियाई देशों में है | चीन, भारत सहित अन्य एशियाई देशों में शिक्षा और जागरूकता की कमी के कारण जनसंख्या विस्फोट के गंभीर खतरे साफ़ दिखाई देने लगे है | साल 2012 के आंकड़ों के अनुसार विश्व की कुल आबादी इस समय 7 अरब से भी ज्यादा है | अनुमान है कि 2030 और 2040 के बीच विश्व की जनसंख्या नौ अरब का आंकड़ा पार कर जाएगी | अगर जल्द ही वैश्विक तौर पर जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए अहम कदम न उठाये गए तो इस बात की भी आशंका है कि जनसंख्या का विस्फोट संसाधनों को निगल जाए और हालत विश्व युद्ध के बन जाए 

ईश्वर की कृपा से हमें पृथ्वी पर कई संसाधनों का आशीर्वाद मिला है लेकिन क्या हम वास्तव में उन संसाधनों को बनाए रखने में सक्षम हैं या हम इस तरह के संसाधनों को संभाल सकते हैं। नहीं हम इतना सब कुछ नहीं कर सकते। अच्छे भविष्य के लिए हमें इस बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने की जरूरत है।

इस दिन का जश्न मनाने के उद्देश्य को भी स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों से जोड़ा जाता है क्योंकि हर साल महिलाएं प्रजनन अवधि में प्रवेश कर रही हैं और प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देना जरूरी है। लोगों को परिवार नियोजन, गर्भ निरोधकों और सुरक्षा उपायों के उपयोग के बारे में पता होना चाहिए जो सेक्स से संबंधित मुद्दों को रोक सकते हैं।

हाल के अध्ययन के अनुसार यह देखा गया था कि 15-19 आयु वर्ग के बीच के युवा यौन संबंध बनाने की ओर आकर्षित हो रहे हैं जिससे यौन संचारित बीमारियों का जन्म हो रहा है।


विश्व जनसंख्या दिवस स्पीच


विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण के लिए इमेज परिणाम


देश के शहरों का हाल बढ़ती जनसंख्या के कारण बहुत खराब हो रहा है। आये दिन सड़को पर जाम लगा रहता है। यातायात के साधन- बस, ट्रेन, टैम्पो पूरे नही पड़ रहे है। शहरों में अधिक आबादी की वजह से प्रदुषण बहुत हो रहा है। बेरोजगारी की वजह से अपराध बहुत बढ़ गया है। आये दिन लूटमार, चोरी, हत्या जैसी घटनाये शहरों में सुनने को मिलती है।

सौभाग्य से इस बार हमारे पास लोगों को उनके अधिकारों और जिम्मेदारियों से अवगत कराने के अलावा व्यापक योजनाएं हैं। हम उन्हें उन कुछ बीमारियों के बारे में भी सूचित करेंगे जो आपके परिवार के गैर-नियोजन के कारण आक्रमण कर सकती हैं। हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में छोटी उम्र में लड़की का विवाह करना अभी भी प्रचलित है। लड़कियों की शादी करने के बाद से ही उनसे बच्चों को जन्म देने की उम्मीद की जाती है और अगर वे लड़की को जन्म देते हैं तो उनसे लड़के को जन्म देने की उम्मीद की जाती है।

यह प्रयास उस समय तक चलता है जब तक वे एक लड़के को जन्म नहीं दे देती। दुर्भाग्य से हमारे देश में लिंग असमानता अभी भी एक प्रमुख मुद्दा है। लोगों को शायद ही कभी यह महसूस हो कि अगर एक नाबालिग़ लड़की गर्भवती हो गई तो उसे कई स्वास्थ्य समस्याओं से गुजरना पड़ सकता है और यह अंततः उसके अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को भी प्रभावित कर सकता है जिसे वह जन्म देने वाली है। कुपोषण ऐसी गर्भावस्था से उत्पन्न सबसे प्रमुख रोगों में से एक है।

भारत एक प्रगतिशील देश है और ऐसी बुरी आदतें भारत की सफलता के रास्ते में प्रमुख बाधाएं हैं। लोगों को यह समझना होगा कि लड़के और लड़की के बीच कोई अंतर नहीं है। लड़कियां एक परिवार को गौरवशाली महसूस करने में समान रूप से सक्षम हैं बशर्ते उन्हें निरंतर शिक्षा और समान परवरिश दी जाए तो। इस प्रकार विश्व जनसंख्या दिवस का लक्ष्य भी लिंग समानता और महिला सशक्तिकरण की ओर है।

यह महत्वपूर्ण है कि ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में महिलाओं को गर्भावस्था से बचने के लिए प्रभावी और सुरक्षित परिवार नियोजन के तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए। स्वस्थ जीवन को अपनाने में सही और पूर्ण जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण है।


World Population Day Speech in English Font

यहाँ हम आपको वर्ल्ड पापुलेशन पर, some lines on world population day in hindi, 4 lines on World Population Day in hindi, short essay on World Population Day in hindi font, few lines on World Population Day in hindi निबन्ध (Nibandh) भाषा Hindi font, hindi language, English, Urdu, Tamil, Telugu, Punjabi, English, Haryanvi, Gujarati, Bengali, Marathi, Malayalam, Kannada, Nepali, आदि की जानकारी बताएँगे |


Respected principals, all teachers, all my classmates greeted me Today we have all gathered to celebrate “World Population Day”. Every year 11th July is celebrated as “World Population Day”.

Although you should know about the reason why we have gathered everyone here but for all those who are still thinking about being present here, I will soon share the purpose of this meeting with you. In fact, we received a letter from the local agencies for the celebration of World Population Day which was started by the United Nations this year. This day is an annual festival celebrated for the publicity of people’s rights on 11 July every year and is also celebrated to help them in planning their family better way. It supports events, activities and information to spread awareness among the people so that they can use their rights and make appropriate decisions about their families.

Our organization is famous for celebrating World Population Day enthusiastically throughout the city. I am very happy to inform that the local and also the state government have praised us for spreading awareness about our rights and talking about family planning.

Fortunately, this time we have comprehensive plans besides informing people about their rights and responsibilities. We will also inform them of some diseases which can invade your family due to non-employment. We all know that marrying a girl in our country is still very popular. Girls are expected to give birth to their children only after marrying them and if they give birth to the girl then they are expected to give birth to the boy. This effort goes on until they give birth to a boy. Unfortunately, gender disparity in our country is still a major issue. People rarely feel that if a minor girl becomes pregnant then she may have to undergo many health problems, and it can eventually affect her own health as well as the baby in her womb, which she Give birth Malnutrition is one of the most prominent diseases caused by such pregnancy.


World Population Speech in Marathi Font


या देशात प्रत्येक देशामध्ये विशेष महत्त्व आहे कारण आज जगातील प्रत्येक विकसित आणि विकसित देश लोकसंख्या विस्फोटाने संबंधित आहे. जगातील लोकसंख्येच्या निम्मेहून अधिक लोक आशियाई देशांमध्ये आहेत. चीन, भारत सहित इतर आशियाई देशांमध्ये शिक्षणाच्या अभावामुळे आणि लोकसंख्या विस्फोट गंभीर धोक्यांमुळे दिसून येत आहे. 2012 च्या आकडेवारीनुसार, जगातील एकूण लोकसंख्या सध्या 7 अब्जपेक्षा जास्त आहे. असा अंदाज आहे की 2030 ते 2040 च्या दरम्यान जगाची लोकसंख्या नऊ अब्ज होईल. लवकरच जागतिक लोकसंख्या नियंत्रित करण्यासाठी नाही लक्षणीय पावले उचलली तर देखील लोकसंख्या स्फोट संसाधने आणि महायुद्धाच्या स्थिती खाऊन भीती आहेत |

देवाच्या कृपेने आम्हाला पृथ्वीवरील बर्याच स्रोतांचा आशीर्वाद मिळाला आहे परंतु आम्ही खरोखर ती संसाधने ठेवण्यास सक्षम आहोत किंवा आम्ही अशा संसाधनांना हाताळू शकतो. नाही आम्ही एवढे करू शकत नाही आम्हाला ही वाढती लोकसंख्या भविष्यासाठी नियंत्रित करण्याची गरज आहे.

हा सण साजरा करण्यासाठी हेतू हा दिवस साजरा प्रवेश आरोग्य समस्या लिंक आहे देखील लक्ष द्या महत्वाचे आहे कारण प्रत्येक वर्षी महिला प्रजनन कालावधी व प्रजोत्पादन. लोकांना कौटुंबिक नियोजन, गर्भ निरोधक आणि सुरक्षा रक्षकांच्या वापराबद्दल जागरुक असले पाहिजे जे लैंगिक संबंधातील समस्या टाळू शकतात.

अलीकडील अभ्यास मते, तो वय वर्ग दरम्यान तरुण सेक्स वळत आहेत की 15-19 लैंगिक रोग, जन्म आहे की दिसून आले आहे.


You Also Like: 

About the author

Avatar

Miraj Khan

Hello Friends My Name is Miraj Khan and My Blog Onlinehindimaster.com. I Share My Real Experiences Knowledge in Hindi on This Blog. I Write Some Category on This Blog. Adsense, Blogging, WordPress, Internet, Health And Festivals.

Leave a Comment