हिंदी निबंध

योग दिवस पर भाषण इन हिंदी- International Yoga Day Speech in Hindi

योग दिवस पर भाषण इन हिंदी- योग का सबंध केवल शरीर से ही नहीं, हमारे मन, ह्रदय और आत्मा से भी होता है, योग एक प्रकार की ऐसी ऊर्जा है जिसको अपनाने से हम पूरी उम्र सेहतमंद और बीमारियों से बचे रहते है, पुरे विश्व भर में इस दिन को मनाने की शुरुवात करने में भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का बहुत योगदान रहा है क्योंकि उन्होंने सबसे पहले इस खास दिवस का शुरुवात 21 जून 2015 को की थी, और उन्होंने बहुत से देशो में जाकर योग दिवस का महत्व बताया और अपनाने को कहा, जब से लेकर आज तक हर साल 21 जून को पूरे विश्व में योग दिवस मनाया जाता है, आज हम आपको इस लेख में बताएँगे योग दिवस पर भाषण इन हिंदी, योग दिवस पर निबंध हिंदी, International Yoga Day Speech in Hindi, Yoga Day Essay in Hindi, आदि की जानकारी बताएँगे | इसको आप सोशल मीडिया पर भी आसानी से शेयर कर सकते है |


Onlinehindimaster.com


International Yoga Day Speech in Hindi


अंतराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है। ये दिन साल का सबसे बड़ा दिन होता है। योग दिवस मनुष्य को निरोगी बनाता है और पूरी उम्र सेहतमंद और बीमारियों से बचता है। योग दिवस की शुरुआत सबसे पहली बार भारत के प्रधानमंत्री द्वारा 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के दौरान की थी। इसके बाद 21 जून 2015 का दिन अंतराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्यों द्वारा योग दिवस को मनाने की मंजूरी मिली।  भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के इस प्रस्ताव को 90 दिनों के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया था, जो के संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय लिया गया था। मोदी जी के इस योग दिवस के प्रस्ताव को 175 देशों ने मंजूरी दी थी |

योग दिवस को मनाने के लिए केवल 21 जून  को ही क्यों चुना गया इसके पीछे की वजय यह है के 21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन होता है। इस दिन कुदरत और  सूरज सबसे ज्यादा प्रभावी होते हैं। योग दिवस को किसी विशेष व्यक्ति को ध्यान में रखकर नहीं बल्कि कुदरत को ध्यान में रखकर किया गया है।

योग 5000 वर्ष पुरानी भारतीय शरीरक, मानसिक और आध्यात्मिक पद्धति है जिसका मुख्य उद्देश्य मनुष्य के शरीर को मानसिक और शरीरक तौर पर तंदरुस्त रखना है और उसकी सोच को सकारात्मक बनाना है। योग हर उम्र के व्यक्ति के लिए अच्छा माना जाता है चाहे वो बच्चा हो जा फिर बूढा। योग को रोज़ाना सुबह सूरज के निकलने से पूर्व किया जाए तो ये हमें हर प्रकार की बीमारी से छुटकारा दिलाता है।


Essay On Yoga Day in Hindi


Image result for yoga day hd wallpaper


संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष सैम के कुटेसा ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की घोषणा की और कहा कि 170 से अधिक देशों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के प्रस्ताव का समर्थन किया है, जिससे पता चलता है कि योग के अदृश्य और दृश्य लाभ विश्व के लोगों को कितना आकर्षित करते हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी बधाई दी, जिनकी पहल से 21 जून को हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया है।

योग की शुरुआत भारत में पूर्व-वैदिक काल में हुई मानी जाती है। योग हजारों साल से भारतीयों की जीवन-शैली का हिस्सा रहा है। ये भारत की धरोहर है। योग में पूरी मानव जाति को एकजुट करने की शक्ति है। यह ज्ञान, कर्म और भक्ति का आदर्श मिश्रण है।

दुनिया भर के अनगिनत लोगों ने योग को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाया है। दुनिया के कई हिस्सों में इसका प्रचार-प्रसार हो चुका है। लेकिन संयुक्त राष्ट्र के इस ऐलान के बाद उम्मीद की जा रही है कि अब इसका फैलाव और तेजी से होगा।

विश्व योग दिवस का उद्देश्य सम्पूर्ण विश्व में योग से प्राप्त होने वाले लाभों के प्रति लोगों को जागरूक करना है। विश्व योग दिवस पर 21 जून को सुबह 7 बजे सभी जिला मुख्यालयों द्वारा सामूहिक योग कार्यक्रम रखा गया है। ब्लाक एवं पंचायत मुख्यालयों पर भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

योग कार्यक्रम में समस्त स्कूल, कॉलेज, योग संस्थाओं के साथ बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी शामिल होंगे। केन्द्र सरकार के आयुष विभाग द्वारा कार्यक्रम के दौरान किए जाने वाले योगासन के बारे में एक कॉमन प्रोटोकॉल निर्धारित करते हुए बुकलेट तथा फिल्म तैयार की गई है।


You Also Like: 

About the author

Avatar

Miraj Khan

Hello Friends My Name is Miraj Khan and My Blog Onlinehindimaster.com. I Share My Real Experiences Knowledge in Hindi on This Blog. I Write Some Category on This Blog. Adsense, Blogging, WordPress, Internet, Health And Festivals.

Leave a Comment