Shayari & Status

Ramzan Mubarak Advance Shayari 2019 Hindi| रमज़ान शायरी कलेक्शन|

Ramzan Mubarak Advance Shayari 2019 Hindi| रमज़ान शायरी कलेक्शन- रमजान मुस्लिम धर्म का सबसे पाक महीना माना गया है, इस महीने मुस्लिम धर्म के सभी लोग रमजान यानी रोज़े रखते है, रमज़ान का एक ऐसा महीने होता है, जिसका हर मुस्लिम इंसान को बेसब्री से इंतजार होता है, क्यूंकि इस महीने में सभी मुस्लिम लोग अपनी गुनाहों की माफ़ी मांगते है, और सच्चे दिल से जो अल्लाह के दरवार में दुआ करता है, उसकी वह दुआ जरूर पूरी होती है।

दोस्तों बैसे तो इस रमज़ान के महीने में रोज़े रखना कोई आम बात नहीं है, इसके लिए आपके अंदर हिम्मत होनी चाहिए, अगर देखा जाए तो मुस्लिम धर्म में बच्चे भी रोज़े रखते है, यह खुदा का ही करिश्मा है जो उनको हिम्मत देते है, और वह रोज़े रखते है। जब रोज़ा इफ्तार का बक्त होता है, तो सभी मुस्लिम लोग रोज़े को इफ्तार ते है और फिर खाना खतम है।


Onlinehindimaster.com

मुस्लिम धर्म में “पैग़म्बर मुहम्मद” ने कहा है की, जब रमजान का यह पवित्र महीना शुरू होता है, तो जन्नत के सभी दरवार खुल जाते है, और जहन्नुम के बंद हो जाते है, So फ्रेंड्स अगर आप भी इस पवित्र महीने में किसी को रमजान की मुबारक बात देते हुए शायरी भेजना चाहते है, तो आप बिलकुल सही जगह आये है यहाँ आपको, रमजान की बेहतरीन ढेरों शायरी मिलेंगी,


Ramzan Mubarak Advance Shayari in Hindi


चुपके से चाँद की रोशनी छू जाये आपको
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से
हम दुआ करते है मिल जाये वो आपको…
रमजान मुबारक….!!

रमज़ान का चाँद दिखा,
रोज़े की दुआ मांगी,
रोशन सितारा दिखा,
आप की खैरियत की दुआ मांगी,
आप सभी को रमज़ान मुबारक…!!

कोई इतना चाहे तुम्हे तो बताना,
कोई तुम्हारे इतने नाज़ उठाये तो बताना,
रमज़ान मुबारक तो हर कोई कह देगा तुमसे,
कोई हमारी तरह कहे तो बताना…!!

ऐ चाँद
तू उनको पैगाम कह देना
खुशी का दिन और हँसी की शाम देना
जब वो देखे तुझे बहार आकर
उनको मेरी तरफ से रमजान मुबारक कह देना…!

बादल से बादल मिलते है तो बारीश होती है
दोस्त से दोस्त मिलते है
तो रमजान होते है रमजान मुबारक…!

रमज़ान में हो जाए सबकी मुराद पूरी
मिले सबको ढेरों खुशियां
ना रहे कोई इच्छा अधूरी
आप सभी को रमज़ान मुबारक..!

खुशियाँ नसीब हो जन्नत क़रीब हो
तू चाहे जिसे वो तेरे करीब हो
कुछ इस तरह करना अल्लाह का
मक्का और मदीना की तुझे जियारत नसीब
हो…..रमजान मुबारक..!

हम आप की याद में उदास है
बस आप से मिलने की आस है
चाहे दोस्त कितने ही क्यों ना हो
मेरे लिए तो आप ही सब से खास है..!

Ramzan Mubarak Shayari Collection Hindi Font


आसमां पे नया चाँद है आया
सारा आलम ख़ुशी से जगमगाया
हो रही है सहर-ओ-इफ्तार की तैयारी
सज रही है दुआओं की सवारी
पूरे हो आपके हर दिल के अरमान
मुबारक हो आप सब को प्यारा रमज़ान…!

जिन्दगी का हर पल खुशियों से कम ना हो,
आपका हर दिन ईद के दिन से कम ना हो,
ऐसा ईद का दिन आप को हमेशा नसीब हो,
जिसमे कोई दुःख कोई गम पास ना हो,
रमजान मुबारक…!

मौसम-ऐ-बारिश की अब जरुरत नहीं
मेरे शहर को या रब अब तेरी रहमतों में
भीग जाने के लिए “माह-ऐ-रमजान’’ की
बरकते ही काफी है, रमजान मुबारक…!

कितनी जल्दी ये अरमान गुजर जाता है,
प्यास लगती नहीं इफ्तार गुजर जाता है,
हम सब गुनहगारों की मगफिरत करे अल्लाह,
इबादत होती नहीं और रमज़ान गुज़र जाता है..!

सदा हंसते रहो जैसे हंसते हैं फूल
दुनिया के सारे ग़म तुम्हें जाए भूल
चारों तरफ फैलाओं खुशियों के गीत
इसी उम्मीद के साथ यार तुम्हे
मुबारक हो रमज़ान..!

किसी का ईमान कभी रोशन न होता
आगोश में मुस्लमान के अगर कुरान न
होता
दुनिया न समझ पाती कभी भूक और प्यास
की कीमत
अगर 12 महीने में 1 रमजान न होता,
रमजान मुबारक 2019…!

सुनहरी धुप बरसात के बाद
थोड़ी सी हंसी हर बात के बाद
उसी तरह यह रमज़ान मुबारक हो
पिछले रमज़ान के बाद…!

मौसम-ऐ-बारिश की अब जरुरत नहीं
मेरे शहर को या रब अब तेरी रहमतों में
भीग जाने के लिए “माह-ऐ-रमजान’’ की
बरकते ही काफी है| रमजान मुबारक…!

रात को नया चाँद मुबारक
चाँद को चांदनी मुबारक
सितारों को बुलंदी मुबारक
और आप सब को हमारी तरफ से
रमज़ान मुबारक…!

Ramzan Mubarak Behtreen Shayari in Hindi


जिन्दगी का हर पल खुशियों से कम ना हो
आपका हर दिन ईद के दिन से कम ना हो
ऐसा ईद का दिन आप को हमेशा नसीब हो
जिसमे कोई दुःख कोई गम पास ना हो….
रमजान मुबारक..!

जमीन पर तू फैसले कितने ही क्यों न
बदले दे रुययों की ताकत से
पर याद रहे की खुदा के घर कर्मो की दौलत
वाला ही आमिर होता है| रमजान मुबारक..!

“बे-जुबान को जब वो जुबां देता है
पढने को फिर वो कुरान देता है
बक्शने पे आये जब उम्मत के गुनाहों को
तोहफे में गुनहगारों को रमजान देता है…!

रमजान की बधाई शायरी इन हिंदी


गुल ने गुलशन से गुलफाम भेजा है
सितारों ने आसमान से सलाम भेजा है
मुबारक हो आपको रमज़ान का महीना
ये पैगाम हमने सिर्फ आपको भेजा है…!

तुम इबादत के लम्हों में मेरा एक काम
करना हर सहरी से पहले
हर नमाज़ के बाद हर इफ्तार से पहले
हर रोज़े के बाद सिर्फ अपनी दुआ के कुछ
अलफ़ाज मेरे नाम करना| हैप्पी रमजान..!

खुशियों का आपको पैगाम भेज रहे है
दुआओं से भरा ये सलाम भेज रहे है
खुदा के इस पाक महीने में आपको हम
दुआ-ऐ-रमजान भेज रहे है| रमजान
मुबारक…!

रमज़ान आया है, रमज़ान आया है
रहमतों की बरकतों का महीना आया है
लूट लो नेकियाँ जितना लूट सकते हो
पूरे एक साल में ये ऑफर का महीना आया हैं…!

रमजान का चाँद देखा
रोज़े की दुआ माँगी रौशन सितारा देखा
आप की खैरियत की दुआ मांगी| रमजान
मुबारक..!

सदा हँसते रहो जैसे हँसते हैं फूल
दुनिया के सारे ग़म तुम्हें जाए भूल
चारो तरफ फैलाओं खुशियों के गीत
इसी उम्मीद के साथ मुबारक हो तुम्हें रमज़ान..!

वो सहरी न जाने कब आएगी जब वो
कहेगी
उठो ना जान वरना अजान हो जायेगी|
रमजान मुबारक..!

रमजान की आमद है रहमतें बरसाने वाला
महीना है आओ आज सब खताओं की
माफ़ी मांग ले दर-इ-तौरबा खुला है इस
महीने में….. रमजान मुबारक…!

रमजान मिलादुन्नबी शायरी इन हिंदी


तू अगर मुझे नवाजे तो तेरा करम है
मौला वरनातेरी रहमतों के काबिल मेरी
बंदगी नहीं| रमजान मुबारक..!

किसी का ईमान कभी रोशन न होता
आगोश में मुसलमान के अगर कुरान न होता
दुनिया न समझ पाती कभी भूख और प्यास की कीमत
अगर 12 महीनों में एक रमज़ान न होता..!

अगर तुम अपने अंदर से गुरुर की आदत
को मिटा देना चाहते हो तो
गरीब इंशान को सलाम कर दिया करे|
रमजान मुबारक..!

आसमां पे नया चाँद है आया
सारा आलम ख़ुशी से जगमगाया
हो रही है सहर-ओ-इफ्तार की तैयारी
सज रही है दुआओं की सवारी
पूरे हो आपके हर दिल के अरमान
मुबारक हो आप सब को प्यारा रमज़ान….!

मौसम मस्त है
माहौल जबरदस्त है
रोज़े की तैयारी में सब व्यस्त है
सोचा था कॉल करके विश कर दें पर पता
चला इस रूट की सभी लाइने व्यस्त है|
रमजान मुबारक…!

खुशियां नसीब हो और जन्नत करीब हो
तू चाहे जिसे वो तेरे हमेशा करीब हो
कुछ इस तरह हो करम अल्लाह का तुझ पर
मक्का और मदीना की तुझे जियारत नसीब हो
रमज़ान मुबारक…!

रमजान मुबारक हिंदी शायरी


ए चाँद उनको मेरा पैगाम कहना खुशी का
दिन और बरकत का धाम कहना जब वो
देखे बहार आ कर आपको तो उनको मेरी
तरफ मुबारक हो रमजान कहना…!

अगर हमारे वजह से कोई भूल चुक
गिबत चुगल और कोई नाराजगी हुए हो तो
हमे सबेबरात से पहले माफ़ कर देना मेने
भी हर एक को माफ़ कर दिया अल्लाह
कबूल करे..!

हटा कर जुल्फें चेहरे से न छत पर शाम को जाना
कही कोई ईद न कर ले अभी रमज़ान बाकी है
रमज़ान मुबारक…!

मेरा खुदा तेरा शुक्रिया मेरे खुदा तेरा रहम
मेरी दुआ है बस तुझसे ऐ मुर्शिदा मेरे की
हमेशा रहे मुझ पर तेरा करम रमजान मुबारक…!

रमज़ान की आमद है
रहमतें बरसा ने वाला महीना है
आओ आज सब खताओं की मांफी मांग लें
दर-इ-तौरबा खुला है इस महीने में
रमज़ान मुबारक…!

सुनहरी धुप बरसात के बाद
थोड़ी सी हंसी हर बात के बाद
उसी तरह यह रमज़ान मुबारक हो
पिछले रमज़ान के बाद
हैप्पी रमज़ान…!

खुदा से मांग ले
जो भी है मांगना बन्दे यही वो दर है
जहाँ आबरू नहीं जाती
रमजान मुबारक…!

तू अगर मुझे नवाजे तो तेरा करम है
मौला वरनातेरी रहमतों के काबिल मेरी
बंदगी नहीं| रमजान मुबारक…!

चाँद से रोशन हो रमज़ान तुम्हारा
इबादत से भर जाए रोज़ा तुम्हारा
हर नमाज़ हो कबूल आपकी
बस यही दुआ है खुदा से हमारी
आप सभी को रमज़ान मुबारक…!

रमज़ान आया है, रमज़ान आया है
रहमतों की बरकतों का महीना आया है
लूट लो नेकियाँ जितना लूट सकते हो
पूरे एक साल में ये ऑफर का महीना आया हैं…!

लड्खडाते है कदम हालातो
“रोज़े” में थोडा चलने के बाद
कैसे चला होगा काफिला
#कर्बला में “हुसैन” की
शाहदत के बाद….!

रमजान पर शुबकामनाएं शायरी इन हिंदी


कोई इतना चाहे तुम्हे तो बताना
कोई तुम्हारे इतने नाज़ उठाये तो बताना
रमज़ान मुबारक तो हर कोई कह देगा तुमसे
कोई हमारी तरह कहे तो बताना
आप सभी को रमज़ान मुबारक….!

कायम रहे खुदा पे वो ईमान
मुबारक,
ईमान मुकम्बल हो ये अरमान
मुबारक,
दिल-जिस्म-रूह पाक रहे दौर-
ऐ-इबादत
अल्लाह के बन्दों को पहला रोज़ा
मुबारक….!

मौसम-ऐ-बारिश की अब जरुरत
नहीं, मेरे शहर को या रब….
अब तेरी रहमतों में भीग जाने के लिए
“माह-ऐ-रमजान की बरकते ही काफी
है रमजान मुबारक…!

करम अल्लाह का की हमे इस्लाम
दिया,
पढ़ा कर कलमा हमे मुसलमान
किया,
हमने तो सिर्फ गुनाह किया
लेकिन
अल्लाह की रहमत तो देखो
गुनाह धोने के लिए माहे रमजान
दिया….!

रमज़ान में हो जाए सबकी मुराद पूरी
मिले सबको ढेरों खुशियां
ना रहे कोई इच्छा अधूरी
आप सभी को रमज़ान मुबारक….!

बे जुवान को जब वो ज़बान देते है
पढने को फिर वो कुरान देते है
बख्सने को आते जब उम्मत के गुनाहों को
तोहफे में गुनहगारों को रमजान देते है…!

ए चाँद उनको मेरा पैगाम कहना
खुशी का दिन और हँसी की शाम कहना
जब वो देखे बहार आके
तू उनको मेरी तरफ से मुबारक हो रमजान कहना…..!

सदा हंसते रहो जैसे हंसते हैं फूल
दुनिया के सारे ग़म तुम्हें जाए भूल
चारों तरफ फैलाओं खुशियों के गीत
इसी उम्मीद के साथ यार तुम्हे
मुबारक हो रमज़ान…!

Happy Ramadan Mubarak Shayari Hindi Font


रात को नया चाँद मुबारक
चाँद को चांदनी मुबारक
सितारों को बुलंदी मुबारक
और आप सब को हमारी तरफ से
रमज़ान मुबारक….!

गुल ने गुलशन गुलफान भेजा है
सितारों ने आसमान से सलाम भेजा है
मुबारक हो रमजान का महिना
आपको ये पैगाम भेजा है…!

हम आपके दिल में रहते है
इसलिए हर दर्द सहते हैं
कोई हम से पहले विश न कर दे आपको
इसलिए सबसे पहले
हैप्पी रमज़ान मुबारक कहते हैं….!

तो फ्रेंड्स यह था हमारा आज का आर्टिकल की, Ramzan Mubarak Advance Shayari 2019 Hindi| रमज़ान शायरी कलेक्शन| कैसी लगी  कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और सोशल मीडिया पर भी शेयर करे।

You Also Like:

About the author

Avatar

Miraj Khan

Hello Friends My Name is Miraj Khan and My Blog Onlinehindimaster.com. I Share My Real Experiences Knowledge in Hindi on This Blog. I Write Some Category on This Blog. Adsense, Blogging, WordPress, Internet, Health And Festivals.

Leave a Comment

2 Comments