स्वामी विवेकानंद संस्कृत श्लोक – Swami Vivekananda Sanskrit Shlok

Swami Vivekananda Sanskrit Shlok – स्वामी विवेकानंद एक महान हिन्दू संत और नेता थे, जिन्होंने रामकृष्ण मिशन और रामकृष्ण मठ की स्थापना की थी, स्वामी विवेकानंद की गिनती भारत के महापुरुषों में होती है |  वर्तमान में भारत के युवा जि‍स महापुरुष के विचारों को आदर्श मानकर उससे प्रेरित होते हैं, युवाओं के वे मार्गदर्शक और भारतीय गौरव हैं स्वामी विवेकानन्द जी , भारत माता ने एक ऐसे लाल को जन्म दिया जिसने भारत के लोगों का ही नहीं, पूरी मानवता का गौरव बढ़ाया |

आज के इस लेख में हम स्वामी विवेकानंद महान व्यक्ति के स्वामी विवेकानंद संस्कृत श्लोक आदि का संग्रह पेश करेंगे, जिन्हे पढ़कर आपके भी मन में एक जागरूकता पैदा होगी और कुछ अच्छी सीख मिलेगी, आशा करते है आपको यह Swami Vivekananda Sanskrit Shlok आदि का संग्रह अवश्य पसंद आएगा |

स्वामी विवेकानंद जयंती संस्कृत श्लोक

स्वामी विवेकानंद संस्कृत श्लोक - Swami Vivekananda Sanskrit Shlok

सर्वशास्त्रपुराणेषु ब्यासस्य वचनं ध्रुवम्
परोपकारः पुण्याय पापाय परपीडनम् !
वितर्कविचारानन्दास्मितानुगमात् सम्प्रज्ञातः

Swami Vivekananda Sanskrit Shlok

ध्यायतो विषयान्पुंसः सङगस्तेषुपजायते
सङगत्संजायते कामः कामात्क्रोधोऽभिजायते !
आत्मानं सततं रक्षेत् !

Read More : 

Swami Vivekananda Quotes in Sanskrit

उतिष्ठत। जाग्रत। प्राप्य वरान्निबोधत !

स्वामी विवेकानंद संस्कृत श्लोक - Swami Vivekananda Sanskrit Shlok

वितर्कविचारानन्दास्मितानुगमात् सम्प्रज्ञातः
दरिद्रदेवो भव, मुर्खदेवो भव !

स्वामी विवेकानंद जयंती संस्कृत लेख

अविद्यायामन्तरे वर्तमानाः स्वयं धीराः पण्डितम्मन्यमानाः
दन्दम्यमाणाः परियन्ति मूढा अन्धेनेव नीयमाना यथान्धाः
सर्वशास्त्रपुराणेषु ब्यासस्य वचनं ध्रुवम्
परोपकारः पुण्याय पापाय परपीडनम् !

Vivekananda Jayanti Par Sanskrit Shlok

सत्यमेव जयते नानृतं सत्येन पन्था विततो देवयानः
दुर्लभं त्रयमेवैतत् देवानुग्रहहेतुकम्
मनुष्यत्वं मुमुक्षुत्वं महापुरुषसंश्रयः

स्वामी विवेकानंद जयंती संस्कृत में

आत्मानं सततं रक्षेत्
वितर्कविचारानन्दास्मितानुगमात् सम्प्रज्ञातः

आशा करते है आपको हमारे द्वारा ऊपर स्वामी विवेकानंद संस्कृत श्लोक – Swami Vivekananda Sanskrit Shlok आदि के साथ साथ Swami Vivekananda Jayanti Sanskrit Shlok, स्वामी विवेकानंद जी जयंती की शुभकामनाएं संस्कृत में आदि का यह Collection अवश्य पसंद आया होगा, अगर पसंद आया और तो मित्र व् परिजनों को भी अवश्य शेयर करे

यह भी देखे : 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here